सियासत न्यूज़ डेस्क-मेरठ-देशभर में लॉकडाउन की अवधि के दौरान छात्र-छात्राओं की फीस माफी को लेकर व्यापारियों ने बुधवार को कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। पश्चिमी उत्तर प्रदेश संयुक्त व्यापार मंडल के बैनर तले जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन करते हुए व्यापारियों ने मुख्यमंत्री के नाम आठ सूत्रीय ज्ञापन सौंपा।

संगठन के प्रदेश अध्यक्ष पंडित आशु शर्मा के नेतृत्व में दर्जनों व्यापारियों ने कमिश्नरी से लेकर कलेक्ट्रेट तक जुलूस निकाला। कलेक्ट्रेट में ज्ञापन सौंपने पहुंचे संगठन के प्रदेश अध्यक्ष पंडित आशु शर्मा ने सरकार पर व्यापारियों के उत्पीड़न का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी ने पहले से ही व्यापारियों की कमर तोड़ कर रख दी है। इसके बाद लॉकडाउन ने व्यापारियों को पूरी तरह बर्बाद कर दिया है।

ऐसे हालात में सरकार को तत्काल स्कूलों की कम से कम तीन महीने की फीस माफ करनी चाहिए। इसी के साथ व्यापारियों के बिजली के बिल माफ करने के साथ बैंक किस्तों पर लगाई गई पेनल्टी समाप्त करने, पावरलूम व्यापारियों के बिजली बिलों पर लगाया गया जुर्माना हटाने और बिल न भरने पर काटे गए व्यापारियों के प्रतिष्ठानों के विद्युत कनेक्शन दोबारा जोड़ने की मांग की। व्यापारियों ने प्रदेश सरकार के नाम सौंपे आठ सूत्रीय ज्ञापन में इन समस्याओं का समाधान ना होने पर बड़े आंदोलन की चेतावनी दी।