सियासत न्यूज़ डेस्क – मेरठ। जीएसटी विभाग की इंटेलिजेंस टीम ने कार्यवाही करते हुए आगरा में छापा मारकर एक कारोबारी को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों के मुताबिक यह कारोबारी कई फर्जी कंपनी बनाकर जीएसटी विभाग को 20 करोड़ की टैक्स चोरी का चूना लगा चुका है।जीएसटी विभाग की इंटेलिजेंस टीम के सीनियर इंटेलिजेंस ऑफिसर प्रकाश रावत ने बताया कि आगरा निवासी आदित्य जैन ने अपनी पत्नी, बहन और खुद के नाम पर कई अलग-अलग फर्म कागजों में बनाई थीं।

जिनमें नेमिनाथ सेल्स कारपोरेशन, विद्या ऑटो पार्ट्स और आदित्य ऑटो एंड सोलर कंपनी द्वारा वर्ष 2018 से अब तक फर्जी बिलों के जरिए 20 करोड़ के जीएसटी टैक्स की चोरी का मामला सामने आया था। जिसके बाद जीएसटी इंटेलिजेंस विभाग ने मामले की जांच शुरू की तो जानकारी मिली कि ऐसी किसी फर्म का अस्तित्व ही नहीं है। जिसके बाद जीएसटी इंटेलिजेंस विभाग की टीम ने आगरा में छापा मारकर आदित्य जैन को फर्जी बिल बनाते रंगे हाथ गिरफ्तार किया।

आरोपी के पास से भारी मात्रा में कई कंपनियों के फर्जी जीएसटी इन्वॉयस, ई-वे बिल, रबड़ स्टैंप, कई फर्मों के ई-वे बिल के लॉगइन आईडी एवं पासवर्ड और फर्जी चालान सहित कंप्यूटर भी बरामद हुआ है। पूछताछ के दौरान जानकारी मिली कि आदित्य जैन ने अब तक इन फर्मों से 20 करोड़ रुपए की फर्जी इनवॉइस जारी करके सरकार को 20 करोड़ का चूना लगाया है। बृहस्पतिवार को जीएसटी इंटेलिजेंस विभाग के अधिकारियों ने आरोपी आदित्य जैन को मेरठ की स्पेशल सीजीएम कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।