सियासत न्यूज़ डेस्क-मेरठ उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार में बदले की नीति के तहत ब्राह्मणों के उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए ब्राह्मण समाज ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। शुक्रवार को ब्राह्मण एकता समिति के बैनर तले कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन करते हुए ब्राह्मण समाज के दर्जनों लोगों ने राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा,जिसमें 2022 के चुनाव में भाजपा को सबक सिखाने की चेतावनी दी गई।

संस्था के संस्थापक पंडित आशु शर्मा के साथ ब्राह्मण समाज के दर्जनों नागरिकों ने कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया पंडित आशु शर्मा ने आरोप लगाया कि पिछले तीन साल में प्रदेश में भाजपा की सत्ता आने के बाद से लेकर अब तक पांच सौ से अधिक ब्राह्मणों की हत्याएं हो चुकी हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि किसी भी मामले में आरोपियों के खिलाफ बड़ी कार्यवाही नहीं की गई।

इस पूरे प्रकरण को सीधे-सीधे ब्राह्मणों के साथ बदले की भावना से प्रेरित बताते हुए पंडित आशु शर्मा ने प्रदेश सरकार पर ब्राह्मणों के उत्पीड़न का आरोप लगाया।

उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश में भाजपा के ब्राह्मण नेताओं को चुन-चुन कर टारगेट किया जा रहा है। उन्होंने चेतावनी दी कि ब्राह्मण समाज यह उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं करेगा। यदि प्रदेश में ब्राह्मणों का उत्पीड़न बंद नहीं हुआ तो ब्राह्मण समाज जल्द ही बड़ा आंदोलन करेगा। इसी के साथ आने वाले 2022 के चुनाव में ब्राह्मण समाज भाजपा का बहिष्कार करेगा।