न्यूज़ डेस्क मेरठ- कोरोना के कहर ने देश को लॉक डाउन करके रख दिया है,शहर दर शहर राज्य दर राज्य और पूरे देश को सुरक्षा के मद्देनजर पूरी तरह बंद कर दिया है,इस ज़िम्मेदारी को निभाते हुए मुस्लिम समाज के उलेमा भी अपनी ज़िम्मेदारी बखूबी निभा रहे हैं,जो बार बार इलाके के लोगों से बाहर न जाने की अपील कर रहे हैं और नमाज़ घर में रह कर पढने की लोगों से गुजारिश कर रहे हैं |

मेरठ शहर क़ाज़ी जैनुल साजिदीन लोगों से अपील करते हुए |

कोरोना की महामारी से जनता को बचाने के लिए जहां प्रशासन तमाम तरह की कवायद कर रहा है। वहीं, नमाज के दौरान मस्जिदों में इकट्ठी होने वाली अकीदतमंदों की भीड़ को रोकने के लिए मुस्लिम धर्मगुरुओं ने बृहस्पतिवार को सभी लोगों से शुक्रवार को अदा की जाने वाली नमाज अपने घरों में ही पढ़ने की अपील की है।

शहर काजी जैनुल साजिद्दीन और शहर कारी शफीक उर रहमान कासमी ने बयान जारी करते हुए मुस्लिम संप्रदाय के सभी लोगों से अपने घरों में ही जुम्मे और अन्य दिन नमाज अदा करने की अपील की है। उन्होंने बताया कि सिर्फ मस्जिदों में रहने वाले इमाम और अन्य लोग ही मस्जिदों में नमाज अदा करेंगे। इसके सिवा जिले के सभी मुस्लिम नागरिक अपने-अपने घरों में नमाज अदा करेंगे।