प्रज्ञान ओझा ने आज क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से रिटायरमेंट का एलान कर दिया. उन्होंने अपने रिटायरमेंट का एलान ट्विटर पर किया. उन्होंने बीसीसीआई, फैंस और हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन का शुक्रियअदा किया.

भारतीय स्पिनर प्रज्ञान ओझा ने आज इंटरनेशनल क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से रिटायरमेंट का एलान कर दिया. प्रज्ञान ने साल 2008 में अपना डेब्यू किया था और उन्होंने 16 साल तक प्रोफेशनल क्रिकेट खेला. साल 2013 के बाद उन्हें एक भी मैच नहीं खेलने को मिला लेकिन वो पीछे नहीं मुड़े और साल 2019 तक वो डोमेस्टिक क्रिकेट खेलते रहे. 33 साल के इस खिलाड़ी ने 24 टेस्ट खेले हैं जहां उनके 113 विकेट हैं. आईसीसी प्लेयर रैंकिंग्स में ओझा का बेस्ट रैंक 5वां स्थान था. ओझा उन दो स्पिन गेंदबाजों में से पहले ऐसे गेंदबाज थे जिन्हें आईपीएल में पर्पल कैप मिला.

सवाल: रिटायरमेंट के बाद आपके क्या प्लान्स हैं? क्या कोचिंग दे सकते हैं?

जवाब: देखिए मैं फिलहाल कॉमेंट्री पर फोकस कर रहा हूं और कोचिंग के बारे में अभी ज्यादा नहीं सोचा है. कोचिंग के लिए आपको थोड़ा समय देना पड़ता है. किसी भी युवा खिलाड़ी का करियर एक कोच के हाथ में होता है. ऐसे में उसे 100 प्रतिशत उस खिलाड़ी के लिए देना पड़ता है और जब मुझे लगेगा कि मैं 100 प्रतिशत इस चीज के लिए तैयार हो चुका है तो मैं जरूर फिर मैदान में कोचिंग के लिए उतरूंगा.