मेरठ- केंद्र सरकार द्वारा देश में घोषित किए गए लॉक डाउन को आज पांचवा दिन हो गया है। 23 मार्च से लगातार जारी लॉक डाउन को लेकर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी पूरी तरह मुस्तैद हैं। मुख्य सड़कों और बाजारों से लेकर छोटी-छोटी गलियों तक पुलिस और सुरक्षा बल मोर्चा संभाले नागरिकों को घरों से बाहर निकलने से रोक रहे हैं। इसके बावजूद कुछ लोग इस महामारी की गंभीरता को ना समझते हुए लगातार लॉक डाउन की धज्जी उड़ाने से बाज नहीं आ रहे। ऐसे ही लोगों को सबक सिखाते हुए पुलिस उनके खिलाफ लगातार कड़ी कार्रवाई कर रही है। जिससे कोरोना जैसी महामारी को बढ़ने से रोका जा सके।

आज भी पुलिस और सुरक्षा बल जिले की सड़कों पर तैनात रहे। हालांकि पुलिस और प्रशासन द्वारा जरूरत के सामानों की खरीद के लिए नागरिकों को दिया गया दोपहर 12 बजे तक का समय समाप्त होने के बाद आज सड़कों पर सन्नाटा पसरा दिखाई दिया। इसे पुलिस की सख्ती का असर ही कह सकते हैं कि अब लोग बेवजह सड़क पर निकलने से गुरेज करने लगे हैं। एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह ने बताया कि लॉक डाउन के बाद पुलिस ने अब तक लॉक डाउन का उल्लंघन करने वाले लोगों के खिलाफ 150 मुकदमे कायम किए हैं।

188 अधिनियम, 266 और 270 आईपीसी सहित गंभीर धाराओं में दर्ज किए गए मुकदमों के बाद लॉक डाउन तोड़ने वालों की संख्या में कमी आई है। उन्होंने बताया कि इस दौरान जहां पुलिस ने सैकड़ों वाहनों को सीज किया है। वहीं, हजारों का चालान कर लाखों रुपए का जुर्माना भी वसूला गया है। एसपी सिटी ने जिले के सभी लोगों से लॉक डाउन का पालन करना और पुलिस को सहयोग करने की अपील की है।