मेरठ-वैश्विक महामारी कोरोना को लेकर जहां देशभर में दहशत का माहौल है। सरकार इस जानलेवा वायरस से निपटने के लिए देशभर में लॉक डाउन और तमाम तरह के इंतजाम करके किसी भी प्रकार इस बीमारी को बढ़ने से रोक रही है। वहीं, दूसरी तरफ कुछ लोगों ने मानवता को ताक पर रखकर इस बीमारी की आड़ में अपनी दुकानदारी शुरू कर दी है। ताजा मामला सिविल लाइन थाना क्षेत्र के प्रभात नगर का है। जहां एक सूचना के आधार पर कार्यवाही करते हुए औषधि विभाग की टीम ने एक मेडिकल स्टोर पर छापेमारी करते हुए संदिग्ध सैनिटाइजर की छह बोतल बरामद की हैं।

औषधि विभाग के ड्रग इंस्पेक्टर पवन कुमार ने बताया कि आज उन्हें प्रभात नगर स्थित आदर्श मेडिकल स्टोर पर एक सैनिटाइजर बेचे जाने की सूचना मिली थी। दुकानदार द्वारा इस सैनिटाइजर को जानलेवा कोरोना वायरस और एचआईवी के लिए अचूक उपचार बताते हुए लोगों को बेचा जा रहा था। जानकारी के बाद औषधि विभाग की टीम ने तत्काल मेडिकल स्टोर पर छापा मारा।

औषधि विभाग के ड्रग इंस्पेक्टर पवन कुमार ने बताया कि उनके विभाग की टीम को मेडिकल स्टोर से छह बोतल संदिग्ध सैनिटाइजर बरामद हुआ है। इसका बिल भी दुकानदार नहीं दिखा सका है। यह सैनिटाइजर हरिद्वार की एक मेडिसिन कंपनी द्वारा निर्मित किए जाने की बात सामने आई है। फिलहाल इस सैनिटाइजर के सैंपल लेते हुए पूरे प्रकरण से उत्तराखंड ड्रग विभाग को अवगत करा दिया गया है। उन्होंने बताया यदि यह सैनिटाइजर नकली पाया गया तो आरोपी दुकानदार के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।